धर्म / धर्मदर्शन

बदरीनाथ में शेषनेत्र झील चढ़ी विकास की बलि

B. Rao 2018-05-04 15:40:44


विकास के नाम पर प्रकृति से किए जा रहे खिलवाड़ का दुष्परिणाम एक-एक कर सामने रहा है। उत्तराखंड में बदरीशपुरी स्थित धार्मिक महत्व की शेषनेत्र झील खात्मे की ओर है। झील लगभग सूख गई है। इसमें नाममात्र को ही पानी बचा है। झील के चारों ओर भवन निर्माण के चलते उसका अस्तित्व संकट में गया है। यह तमाम निर्माण कार्य किसी और ने नहीं बल्कि सरकार ने ही कराए हैं। इसके अलावा झील की सफाई को लेकर भी कोई चिंतित नहीं है, जिससे अब इसमें पानी की जगह मलबा ही शेष है।बदरीनाथ धाम में स्थित शेषनेत्र झील किसी परिचय की मोहताज नहीं है। लोक निर्माण विभाग निरीक्षण भवन तिराहे के पास 50 मीटर से अधिक क्षेत्र में फैली इस झील की गहराई कभी दस मीटर से अधिक हुआ करती थी। मई-जून के महीने भी इसका पानी सड़क से बहकर नीचे की ओर जाता था।