बिज़नेस / अर्थव्यस्था

प्राइवेट कर्मचारियों को GST काउंसिल की अगली बैठक में लग सकता है झटका

B. Rao 2018-04-17 16:58:31


निजी क्षेत्र में काम कर रहे कर्मचारियों को जीएसटी काउंसिल की अगली बैठक में झटका लग सकता है। इंडिया टुडे की रिपोर्ट के अनुसार, सरकार ‘अप्रत्‍यक्ष कमाई’ को जीएसटी के दायरे में लाने पर विचार कर रही है। इसके लिए जरूरी नियमों में बदलाव और प्रस्‍ताव को काउंसिल की अगली बैठक में हरी झंडी मिल सकती है। अगर ऐसा हुआ तो निजी क्षेत्र के जिन कर्मचारियों को रिम्‍बर्समेंट के रूप में वेतन का बड़ा हिस्‍सा मिलता है, उन्‍हें टैक्‍स चुकाना होगा। रिम्‍बर्समेंट को जीएसटी के दायरे में लाने का विचार अथॉरिटी ऑफ एडवांस रूलिंग (AAR) के कैंटीन शुल्‍क पर एक हालिया फैसले से पनपा है। AAR ने कहा है कि कर्मचारी से रिकवर किया गया कैंटीन शुल्‍क जीएसटी के दायरे में आता है। इस फैसले से प्रभावित होकर वर्तमान नियोक्‍ता टैक्‍स बचाने के लिए कैंटीन सेवाओं का शुल्‍क लेना बंद कर सकते हैं, जिससे वेतन पैकेज पर प्रभाव पड़ेगा। नियोक्‍ता अपने कर्मचारी की कॉस्‍ट टू कंपनी (सीटीसी) में बढ़ोत्‍तरी करना नहीं चाहेंगे।