समाचार / राष्ट्रीय

राजमाता सिंधिया लाखों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं : प्रधानमंत्री

B. Rao 2018-10-12 16:30:45


प्रधानमंत्री ने ट्वीट कर कहा कि वह गांव, जंगल, आदिवासी और दूरदराज के इलाकों में जनता के लिए वह हमेशा हाजिर रहती थीं। वह हजारों, लाखों लोगों के लिए प्रेरणा का स्रोत हैं| प्रधानमंत्री ने कहा कि जनसंघ और उसके बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की स्थापना में उनके योगदान को बताने के लिए शब्द कम पड़ जाएंगे। उन्होंने आपातकाल का भी खुलकर विरोध किया था| तत्कालीन सरकार ने इसके लिए उन्हें कई तरह से सताया, मगर वह डटी रहीं।

विजयाराजे सिंधिया का जन्म 12 अक्टूबर 1919 को मध्य प्रदेश के सागर में हुआ था। वह भाजपा के संस्थापक सदस्यों में से एक थीं। मध्य प्रदेश की राजनीति में उनका विशेष स्थान रहा। वह 1957 से 1991 तक आठ बार ग्वालियर और गुना से सांसद रहीं। 25 जनवरी 2001 को उनका निधन हो गया।